IAS की तैयारी कैसे करे? bitcoin4buying

देश की सबसे बड़ी परीक्षा जिसमे हम भारतीय प्रसाशनिक सेवा के नाम से जानते है इसी के बारे में हम आपको बताएँगे जिससे आप जान सकेंगे की IAS की तैयारी कैसे करे?

देश की इस परीक्षा को पास करने के बाद आपको कई अच्छी अच्छी पोस्ट पर नौकरी करने और देश सेवा करने का मौका दिया जाता है. अगर आप भी इस परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं तो ये आर्टिकल बहुत ही ध्यान से पढ़ें.

इस जानकारी के बारे में जानने के लिए आप इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आपको इसके बारे में उपयुक्त जानकारी मिल सके. 

IAS क्या होता है ? 

भारत की सबसे बड़ी पोस्ट में से यह भी एक पोस्ट होती है. आपने जिला कलेक्टर का नाम सुना होगा या आपने SDM का नाम सुना होगा. यह सभी अधिकारी आईएएस ही होते है.

आज के समय में देश में सबसे बड़े पद पर ही IAS ही बेठता है. इतना ही नही आपके आसपास जिला का सबसे बड़ा अधिकारी भी आईएएस ही होता है. 

अगर आप इस के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो ये जरूर पढ़ें की IAS क्या है आईएएस कैसे बने?

IAS का पूरा नाम क्या है ? 

भारत के इस सबसे बड़े प्रशानिक अधिकारी आईएएस का पूरा नाम भारतीय प्रशासनिक अधिकारी होता है जिसे अंग्रेजी में Indian Adiministrative Service कहा जाता है. 

IAS कौन बन सकता है? 

देश का हर वो नागरिक जो यह मकाम हासिल करना चाहते हैं उसको कुछ निम्न शर्तो को पूरा करना होता है जो इस प्रकार है. 

  • जो भी ये प्राप्त करना चाहता है उसकी उम्र 21 से 35 साल के बीच में होनी चाहिए. 
  • आईएएस बनने के लिए आवेदक भारत का मूल निवासी होना चाहिए. 
  • इसमें आवेदन करते समय अभ्यर्थी को स्नातक पास होना आवश्यक है. अगर कोई अभ्यर्थी स्नातक के अंतिम वर्ष में हैं तो वो भी इसके लिए आवेदन कर सकता है. 
  • इस पद पर जाने के लिए आवेदक को संघ लोक सेवा आयोग द्वारा जारी परीक्षा को पास करना होता है. 

आईएएस बनने के लिए होने वाली परीक्षा 

किसी भी अभ्यर्थी को आईएएस बनने के लिए संघ लोक सेवा आयोग द्वारा हर साल करायी जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा को पास करना होता है. यह आयोग द्वारा 3 चरण में आयोजित करवाई जाती है.

इसके 3 चरण में आपको हर चरण को पास करना होता है. अगर आप किसी भी चरण को पास करने में असफल रहते है तो उस स्थिति में आपको वापस शुरू से शुरुआत करनी होती है. 

इसके यह 3 चरण इस प्रकार है:

प्री परीक्षा 

यह इसका सबसे पहला चरण होता है जो की एक तरह से एंट्रेंस टेस्ट होता है. यह एग्जाम ऑब्जेक्टिव होती है और इसमें दो पेपर होते है.

इन दोनों पेपर में से पहला पेपर सामान्य ज्ञान का होता है जो की आपकी मेरिट बनाने में मदद करता है वही इसका दूसरा पेपर रीजनिंग का होता है जो की एक तरह से क्वालीफाइंग पेपर होता है जिसे आपको केवल पास करना होता है.

दुसरे पेपर के नंबर मेरिट में नही जुड़ते है. सिविल सेवा के लिए कुल पोस्ट के पंद्रह गुना ज्यादा विद्यार्थियों को इस परीक्षा में पास किया जाता है जिसके बाद वो मुख्य परीक्षा में बैठते है.

मुख्य परीक्षा 

प्री परीक्षा पास करने के बाद अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाता है. इसमें कुल 9 होते है. यह पूरे 9 पेपर लिखित होते है.

इन सारे पेपर में 2 पेपर क्वालिटी पेपर होते है जो की एक इंग्लिश और दूसरा किसी भी एक भारतीय भाषा का होता है. बाकी 7 पेपर में से 4 पेपर सामान्य अध्ययन के होते है. 

बाकी बचे 3 पेपर में से 1 निबंध का और 2 पेपर किसी भी वैकल्पिक विषय के होते है. इसका यह पार्ट यानी मुख्य परीक्षा इस सिविल सेवा एग्जाम का मुख्य भाग होता है.

यही निर्धारित करती है आपको कौन सी पोस्ट दी जाएगी. इसमें कुल पोस्ट के 2 गुना अभ्यर्थियों को पास किया जाता है और उनको व्यक्तिगत परीक्षण के लिए बुलाया जाता है. 

व्यक्तिगत परिक्षण 

मुख्य परीक्षा पास करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है जिसमे आपको ज्ञान का नही बल्कि आपको सोच और आपके विचारों का प्रक्षिशन लिया जाता है.

इसमें और मुख्य परीक्षा के नम्बर दोनों को मिलाकर फाइनल मेरिट लिस्ट बनाई जाती है. जो भी अभ्यर्थी मेरिट लिस्ट में चयनित होता है उसको उसकी रैंक के अनुसार पोस्ट दी जाती है फिर वो आईएएस की हो या आईपीएस की. 

इन तीनों चरणों को पास करने के बाद आपको आपकी रैंक के अनुसार पोस्ट दी जाती है. अगर आपको इस पद पर जाना है तो आपको जाहिर के थोड़ी ज्यादा मेहनत करनी होती है ताकि आपकी परीक्षा में अच्छी रैंक आये और आप भी यह पद हासिल कर सके. 

आईएएस परीक्षा के आवेदन करने के लिए पात्रता 

अगर कोई विद्यार्थी इस परीक्षा में आवेदन करना चाहता है तो उसके पास यह कुछ आवश्यक योग्यताएं होनी चाहिए, जो इस प्रकार है. 

  • इसमें आवेदन केवल वही कर सकता है जो भारत का मूल निवासी हो, देश की अन्य एग्जाम में भारत के अलावा नेपाल, भूटान, म्यांमार इतियादी राष्ट्र के नागरिक आवेदन कर सकता है. 
  • आवेदन करने वाला प्रार्थी स्नातक पास होना चाहिए. 
  • अगर कोई आवेदक विकलांग है तो उसके पास विकलांगता का प्रमाण पत्र होना चाहिए.
  • इसमें आवेदन करने के लिए प्रार्थी की आयु 21 से 35 साल के बीच में होनी चाहिए. 

आईएएस की परीक्षा कौन करवाता है ? 

इसका एग्जाम हर साल भारत में UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) द्वारा आयोजित कराई जाती है. इसके बारे में लोगों को कई भ्रांतियां है की यह एग्जाम में हर कोई आवेदन नहीं कर सकता है जैसे हो पढाई में कमजोर वो इसमें आवेदन नहीं कर सकता है.

तो ऐसा कुछ नही है भारत का संविधान हमें समानता का अधिकार देता है, ऐसे में देश का हर नागरिक इस परीक्षा में आवेदन कर सकता है. 

सिविल सेवा परीक्षा के बारे में 

जैसा की आपको पहले की बता चुके है की यह परीक्षा 3 चरणों में होती है. इस परीक्षा को संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित करवाया जाता है.

इस परीक्षा को पास करने के बाद आप आईएएस, आईपीएस, आईएफएस इत्यादि पोस्ट पर जा सकते है. यह पोस्ट आपको आपकी रैंक के अनुसार दी जाती हैं.

यह संघ लोक सेवा आयोग द्वारा हर साल आयोजित करवाई जाती है. इसके लिए आवेदन पत्र फरवरी माह में निकाले जाते है और इसकी प्री परीक्षा जून महीने में होती है और मुख्य परीक्षा अक्टूबर माह में होती है. इसका इंटरव्यू जनवरी माह में आयोजित करवाया जाता है. 

आईएएस बनने के बाद ? 

आईएएस की परीक्षा पास करने के बाद आपको इन निम्न पदों पर काम करने का मौका मिलता है. पदों की सूची बढ़ते क्रम की और

  • उपखंड अधिकारी 
  • किसी भी विभाग में डायरेक्टर 
  • जिला कलेक्टर
  • संभागीय आयुक्त 
  • उप सचिव 
  • सचिव 
  • एवं देश के लगभग हर विभाग का बड़ा अधिकारी आईएएस ही होता है. 

आईएएस को दिया आने वाला परीक्षण

इस परीक्षा को पास करने के बाद चुनिन्दा आवेदकों को आईएएस की ट्रेनिंग देने के लिए मसूरी स्थित आईएएस ट्रेनिंग सेंटर जिसका नाम लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकादमी फॉर एडमिनिस्ट्रेशन हैं, वह ट्रेनिंग के लिए बुलाया जाता हैं.

इस ट्रेनिंग सेंटर में चुनिन्दा आईएएस ऑफिसर को कैसे काम करना है, के बारे में सिखाया जाता है. यह ट्रेनिंग 2 साल के आसपास होती है जिसमें कई अलग अलग चरण होते है. 

इस परीक्षा के लिए आवेदन कैसे करे ? 

इसके फॉर्म हर साल निकाले जाते है जिसमे आप निचे दी गई इस साइट के जरिये भर सकते है और इस परीक्षा का हिस्सा बन सकते है. https://upsconline.nic.in/अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी लेनी हो तो आप इस वेबसाइट के जरिये जानकारी प्राप्त कर सकते है. 

सम्बंधित सवाल जवाब – FAQ

1. आईएएस में आवेदन करने के लिए आवेदक की आयु कितनी होनी चाहिए ?

Ans. इसमें आवेदन करने करने वाले अभ्यर्थियों की आयु 21 से 35 साल के बीच में होनी चाहिए. 

2. आईएएस बनने के लिए कौन सी परीक्षा पास करनी होती है ? 

Ans. आईएएस बनने के लिए संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा पास करनी होता है.

3. आईएएस का पूरा नाम क्या होता है ? 

Ans. भारत के इस सबसे बड़े प्रशानिक अधिकारी आईएएस का पूरा नाम भारतीय प्रशासनिक अधिकारी होता है जिसे अंग्रेजी में Indian Adiministrative Service कहा जाता है. 

4. आईएएस की परीक्षा में कौन आवेदन कर सकता है ? 

Ans. आईएएस की परीक्षा में भारत का हर वो नागरिक आवेदन कर सकता है जिसकी आयु 21 से 35 साल के बीच हो और स्नातक पास हो.

5. आईएएस की परीक्षा कितने चरण में होती है ? 

Ans. आईएएस की परीक्षा 3 चरण में होती है जिसमे प्री एग्जाम, मैन एग्जाम, और इंटरव्यू होता है. 

निष्कर्ष 

इस लेख में आपको आईएएस की परीक्षा के बारे में बताया गया है. भारत में इस पोस्ट को सबसे बड़े सरकारी पदों के रूप में जाना जाता है.

भारत के इस सबसे बड़े प्रशानिक अधिकारी आईएएस का पूरा नाम भारतीय प्रशासनिक अधिकारी होता है जिसे अंग्रेजी में Indian Adiministrative Service कहा जाता है. 

इस लेख में आपको हमारे द्वारा इस परीक्षा से संबंधित पूरी जानकारी प्रदान की गई है और आप समझ गए होंगे की IAS की तैयारी कैसे करे?

उम्मीद करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा.